मूत्र मार्ग में संक्रमण में, इन उपायों को अपनाने से मिलेगी मदद !

मूत्र मार्ग में संक्रमण होता कैसे हैं?

मूत्र पथ का संक्रमण/ यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (यू टी आई) गुप्तांगों में होना विश्व भर में दूसरी सबसे बड़ी शिकायत हैं, जो डॉक्टरों के पास आती हैं । यह समस्या पुरुषों और महिलाओं दोनों में आमतौर पायी जाती हैं । शर्मनाक, अप्रत्याशित और असहज करने वाली यह समस्या व्यक्ति को मानसिक तौर पर भी परेशान करती हैं । यदि आपको भी इस तरह की समस्या हैं तो ज्यादा इंतज़ार करने की जरुरत नहीं । इस लेख को पढ़ें और यह जाने की आप अपनी समस्या से कैसे आसानी से घर बैठे छुटकारा पा सकते हैं । इससे आप समस्या को आसानी से पहचान सकेंगे और कुछ घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर इससे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं ।

संक्रमण होता कैसे हैं ?
कुछ स्वास्थ्य अवस्था जैसे डायबिटीज, मासिक धर्म का बंद होने या फिर गर्भावस्था के दौरान यह संक्रमण हो सकता हैं । आमतौर पर यह मूत्र मार्ग में जीवाणु के आक्रमण से होता हैं । यह सामान्यतः सम्भोग (सेक्स) के दौरान एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे को होता हैं । ऐसा माना जाता हैं कि ज्यादा देर तक पेशाब को रोके रहने से भी यह संक्रमण होता हैं ।

मूत्र मार्ग में संक्रमण के कुछ लक्षण
  • बार बार पेशाब का आना
  • छींकने
  • खांसते और हंसते वक़्त थोड़ा सा पेशाब का जाना
  • बुखार
  • चक्कर आना
  • उल्टी होना
  • पेट में हल्का दर्द
  • पेशाब के रंग का बदलना
  • पेशाब करते वक्त जलन महसूस करना और पेशाब करते वक़्त हल्का या तेज दर्द होना ।

संक्रमण से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय
संक्रमण को देख कर इसे नज़रअंदाज करना और इसका इलाज़ न कराना गुर्दे को खराब कर सकता हैं । इससे छुटकारा पाने के इन उपायों को अपनाने से आप संक्रमणमुक्त हो सकते हैं ।

दही के गुण : जो लोग बार-बार इस संक्रमण का शिकार होते हैं, वो दही का इस्तेमाल कर इससे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं । दही में मौजूद लैक्टो बैसिलस जीवाणु संक्रमण की संभावना को कम करता हैं ।



ब्लू बेरी : ब्लूर बेरी की असाधारण बैक्टीरिया खत्म करने का गुण काफी प्रभावी होता हैं और मूत्र मार्ग में संक्रमण को ठीक करने का असरदार घरेलू उपचार हैं । अपने आहार में इसका इस्तेमाल और इसका जूस पीने से संक्रमण नहीं होगा ।

पानी ज्यादा मात्रा में पीना : संक्रमण को ठीक करने का सबसे अच्छा उपाय पानी हैं । अगर आपको विश्वास नहीं होता तो आप उस व्यक्ति से बात करें जिसने हायड्रोथैरेपी का इस्तेमाल किया हो और उसका अनुभव हैं। संक्रमण के दौरान आममात्रा से ज्यादा मात्रा में पानी पीने से पेशाब ज्यादा होता हैं । इससे हर बार पेशाब जाने पर बैक्टीरिया पैदा करने वाले कीटाणु बहार निकल जाते हैं । इससे उनके प्रजनन में भी देरी होती हैं ।

अनानास (पाइनेप्पल) : अनानास खाने के टेबल पर सलाद के प्लेट की शोभा बढ़ने से भी काफी ज्यादा बेहतर काम करता हैं । इसमें एंजाइम ब्रोमेलैन पर्याप्त मात्रा में रहता हैं जो मूत्र मार्ग में संक्रमण से बचने का प्रभावी उपचार हैं । यह फल मीठा होने के कारण खाने में भी अच्छा होता हैं और सेहत के लिए लाभकारी भी ।



क्रेनबेरी से करें बचाव : क्रेनबेरी ब्लू बेरी प्लांट से ही आता हैं । यह संक्रमण दूर करने की अचूक दवा हैं । कई अध्ययन और शोध ने इस बात की पुष्टि की हैं की इसके व्यव्हार से संक्रमण की समस्या नहीं होती । यह ब्लू बेरी की तरह संक्रमण पैदा करने वाले जीवाणुओं को पनपने नहीं देता और शरीर में प्रतिरोधी क्षमता विकसित करता हैं । शुद्ध क्रेनबेरी का जूस आपको खट्टा लगे तो, उसमें कुछ ऐसे फल को भी मिला लें जो आपको फ्रूट जूस का मजा दे सके।



महत्वपूर्ण विटामिन-सी : व्यक्ति जब संक्रमण की बीमारी से जूझ रहा हो तो उसे विटामिन-सी से युक्त पदार्थ जैसे कि नींबू, संतरा व ऑवला इत्यादि का सेवन करना चाहिए । विटामिन-सी पेट के ब्लैडर और मूत्र मार्ग में अम्ल परिवेश बनाता हैं, जो ऐसे जीवाणुओ को पनपने नहीं देता । जो लोग इस संक्रमण का शिकार होते हैं, डॉक्टर उन्हें 5000 एमजी विटामिन-सी का सेवन की सलाह देते हैं ।



सिरका : सिरका भी संक्रमण ठीक करने की क्षमता रखता हैं । यह ब्लैडर और मूत्र मार्ग को खारा बनता हैं और संक्रमण पैदा करने वाले कीटाणुओं का प्रजनन नहीं होने देता । एक गिलास गर्म पानी में कुछ चम्मच सिरका मिलाएं और उसे पी जाए ।



बेकिंग सोडा : बेकिंग सोडा को भले ही घरेलू उपचार की तरह व्यवहार में नहीं लाया जाता हो पर इसके असाधारण गुण से संक्रमण के दौरान जलन और बार-बार पेशाब करने से राहत मिलती हैं । एक कप ठन्डे पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा डालकर उसे अच्छी तरह मिलाएं । इस मिश्रण के सेवन से तुरंत में काफी लाभ मिलता हैं ।


Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.

Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.