बेहोशी

विवरणः
  • बेहोशी मस्तिष्क में रक्त की आपूर्ति में कमी आने के कारण होती हैं
  • बेहोशी की समयावधि आमतौर पर बहुत छोटी होती हैं
  • इसमें चिकित्सीय महत्व हो या नहीं भी हो सकता हैं ।
सामान्य कारण

  • बेताबी/व्यग्रता/चिन्ता
  • भावनात्मक परेशानी
  • तनाव
  • कष्टदायक दर्द
  • भोजन नहीं करना
  • अचानक तुरन्त खड़े होना
  • कुछ दवाईयों के असर के कारण
  • मधुमेह
  • रक्त चाप।

लक्षण

बेहोशी से पहले, व्यक्ति को निम्नलिखित अनुभव हो सकते हैं, जैसे कि :
  • जी मिचलाना
  • चक्कर आना
  • बहुत ज्यादा पसीना आना
  • नजर कमजोर हो जाना
  • तेजी से दिल धड़कना या धकधक करना।

उपचार

बेहोशी एक आपातकालिन स्थिति हैं, जब तक कि यह चिकित्सक द्वारा तय नहीं हो जाये। जब एक व्यक्ति बेहोश हो जाये तो निम्न उपचार करने चाहिये –
  • उसे नीचे बैठा दें या लेटा दें
  • यदि बैठा हैं, उसका सिर घुटनों के बीच स्थित कर दें
  • जब कोई व्यक्ति बेहोश हो जाये तो उसे पीठ के बल लिटायें
  • यह देखे या जाँच करें कि क्या व्यक्ति की सांस चल रही हैं और प्राणवायु मार्ग साफ हैं
  • रक्त प्रवाह सामान्य करने के लिये उसके वस्त्र/बेल्ट/कॉलर ढीला कर दें
  • पैरों को सिर के स्तर से ऊपर उठा दें
  • रोगी एक मिनट के भीतर सामान्य हो जाना चाहिए, यदि ऐसा नहीं होता, तब चिकित्सा सहायता प्राप्त करें
  • जांच करें कि क्या सांस/नाड़ी सामान्य हैं या नहीं, यदि नहीं हैं तब कार्डियो-पल्मोनरी रिससिटैशन (सी.पी.आर) करें।
रोकथाम

  • जब आपको उपरोक्त लक्षण दिखाई देवें तो उस समय लेट जाएं
  • तनाव और चिंता से बचने की कोशिश करें
  • अपनी दवाओं का सावधानी के साथ आंकलन करें
  • मूल चिकित्सा संबंधी स्थिति को ध्यान में रखें ।