नाक में अवांछित या बाहरी पदार्थ

अवलोकन
  • नाक के भीतर किसी बाहरी पदार्थ का घुस जाना,
  • आमतौर पर बच्चे इससे प्रभावित होते हैं,
  • खेल के दौरान, वे अपनी नासिका छिद्र के भीतर छोटे पदार्थ घुसा देते हैं।
कारण
  • भोजन के अंश,
  • रबड़,
  • सूखे बीज,
  • पदार्थ जैसे क्रेयान,
  • मनके,
  • बटन।
लक्षण
  • चिड़चिड़ाहट या उत्तेजना
  • संक्रमण,
  • बदबू, नाक से खून बहना या नकसीर,
  • सांस लेने में कठिनाई।
उपचार
  • व्यक्ति को मुंह से सांस लेने की सलाह दी जानी चाहिये,
  • व्यक्ति को ताकत लगाकर सांस लेने से बचना चाहिये,
  • सही या अप्रभावित नासिका छिद्र को बंद कर के, प्रभावित नासिका छिद्र से सांस को बाहर निकालें,
  • यदि इस विधि में विफल रहते हैं तब चिकित्सकीय सहायता प्राप्त करें।
इन कार्यों से बचें
  • ऐसे पदार्थ का पता करने का प्रयास मत करें जिसे आप देख या पकड़ नहीं सकते,
  • बहुत जोर लगाकर नाक साफ मत करें,
  • तेज धार वाले उपकरणों का प्रयोग कर पदार्थ को मत हटायें।
डॉक्टर से सलाह करें-
  • यदि पदार्थ को बाहर नहीं निकाला जा सकता,
  • पीड़ित संक्रमण से ग्रस्त हैं।
रोग निदान-
  • एक बार पदार्थ निकलने के बाद कोई समस्या नहीं होती हैं।
निवारण-
  • बच्चों को प्रशिक्षित किया जाना चाहिये कि वे कोई भी पदार्थं शरीर के खुले हिस्सों में ना घुसायें,
  • छोटे पदार्थों को बच्चों की पहुंच से दूर रखें।