त्वचा में अवांछित या बाहरी पदार्थ

अवलोकन
  • जब कोई पदार्थ त्वचा की परत में स्थापित हो जाता हैं,
  • वह सतही तौर पर या गहराई तक अंदर तक चिपक सकता हैं ।
कारण
  • शीशा
  • लकड़ी का बुरादा
  • फाइबर ग्लास ।
लक्षण
  • चिड़चिड़ापन
  • दर्द
  • फोड़ा-फुंसी ।
उपचार
  • हाथ अच्छी तरह से धोएं,
  • प्रभावित क्षेत्र को साबून, पानी के साथ साफ करें,
  • यदि त्वचा के ऊपर कोई पदार्थ दिखाई देता हैं, तब उस क्षेत्र को रगड़ दें,
  • जब वह पदार्थ बाहर निकल जाता हैं, उसे रोगाणुनाशक चिमटी से पकड़कर वहां से हटा दें,
  • यदि वह पदार्थ त्वचा के भीतर निहित हैं, तो रोगाणुनाशक सुई का प्रयोग करें,
  • सुई को आग की लपटों या शराब में डुबोकर रोगाणुरहित करें,
  • प्रभावित क्षेत्र पर सुई को त्वचा के भीतर प्रवेश कराएं,
  • पदार्थ को सिरे से पकड़कर उठायें ,
  • एक छोटी चिमटी का प्रयोग करते हुए उसे बाहर निकाल दें
  • आराम से उस क्षेत्र को दबाकर खून बहने दें,
  • साबून, पानी के साथ प्रभावित क्षेत्र को साफ करे,थपकी देकर सूखने दें,
  • एंटीबायोटिक दवा लगा दें।
ऐसा करने से बचें-
  • यदि वह पदार्थ लकड़ी का अंश है तब उसे गीला ना करें,
  • लकड़ी के पदार्थ पानी से फूल जाते हैं - जिससे उन्हें बाहर निकालना बहुत मुश्किल हो जाता हैं।
डाक्टर से सलाह करें-
  • यदि पदार्थ को बाहर निकालना मुश्किल हैं ,
  • यदि कथित पदार्थ शरीर के किसी संवेदनशील अंग के पास हैं, जैसे आंखें,
  • संक्रमण के मामले में।