मोच

अवलोकन

  • हड्डियों को जोड़ने वाले अस्थिबंध (स्नायु रज्जुक) में खिंचाव आने या फट जाने पर, उसे मोच (स्प्रेन) कहते हैं।
  • यह शरीर के ऊपरी और नीचे के हिस्सों में होता हैं।
  • सबसे सामान्य स्थान-टखना, कलाई और घुटना हैं।

कारण
  • आघात या दुर्घटनाएं
  • भारी वस्तुओं को उठाना
  • खेल की चोटें

लक्षण
  • दर्द
  • सूजन
  • सूजन के अलावा गांठ
  • लालिमा या खरोंच आना
  • संवेदनशून्यता
  • सुन्नता (संवेदनशून्यता) के कारण जोड़ो को हिलाने में असमर्थता

इलाज
  • 20 मिनट के लिए घायल स्थान के लिए एक ठंडा संपीड़न का प्रयोग करें
  • यह दिन में 4-8 बार किया जा सकता हैं
  • चूरे हुये बर्फ को एक प्लास्टिक बैग में ड़ाल कर एक तौलिया में लपेट कर सेकें
  • सूजन को कम करने के लिए संपीड़न पट्टियों का उपयोग करें
  • घायल पैर को एक तकिये पर ऊँचा उठा कर रखें
  • यदि आवश्यक हो तो प्रतिरोधक दवाईयाँ लेवें
  • बताई गई अवधि तक आराम करें
  • जब दर्द या सूजन कम हो जाये, तब तक बताई गई कसरत जरूर करें

डॉक्टर से परामर्श करें यदि निम्न होता हैं तो-
  • गंभीर दर्द या संवेदनशून्यता
  • जोड़ो को हिलाने में असमर्थता
  • चोट की गंभीरता का आँकलन करने में असमर्थता

बचाव के कदम
  • अगर पूरी तरह से ठीक नहीं हुआ हो तो, रोजमर्रा की गतिविधियों को ना करेंं
  • यह समस्या गंभीर रूप से बढ़ सकती हैं

रोकथाम
  • थके हुये होने पर कसरत या खेलने को टाले
  • हृष्ट पुष्ट मांसपेशी बनाने के लिये-एक संतुलित भोजन खाएं
  • अस्वास्थ्यकर वजन बढ़ाने से बचियें
  • दैनिक व्यायाम करें-विशेष कर लचीली खींच कर तानने वाली कसरत
  • कसरत करने से पहले शरीर को गरमायें या तैयार करें
  • सुरक्षा के मापदण्डो का उपायोंग करें-जैसे कि अव्यवस्थित जगह कसरत करने से बचें
  • समतल सतह पर दौड़ें
  • खराब फिटिंग के जूते न पहनें ।