मधुमेह - ग्लूकोज स्रोत

यह एक तुरन्त -क्रियाशील कार्बोहाइड्रेट हैं जो हाइपोग्लाइसीमिया की स्थिति में रक्त शर्करा के स्तर को तेजी से बढ़ाने में मदद करता हैं। यह निम्ने रूप में हो सकता हैं -

  • (15 ग्राम) ग्लूकोज के 3 छोटे चम्‍मच
  • (15 ग्राम) चीनी के 3 छोटे चम्‍मच
  • नियमित सॉफ्ट ड्रिंक (डाइट कोक / डाइट पेप्सी नहीं)
  • चीनी के साथ दूध
  • फलों का रस
  • शहद
  • किशमिश
जब रक्त में ग्लूकोज का स्तर 70 एमजी / डीएल से नीचे चला जाता हैं, तब इसे तुरंत ऊपर लाया जाना चाहिए, इस मामले में एक त्वरित "ग्लूकोज स्रोत" अत्यधिक आवश्यक होता हैं।

जो लोग मिठाईयों या चॉकलेट के शौकीन होते हैं, कभी-कभी वे खुद को हाइपोग्लाइसीमिया की ओर ले जाते हैं ताकि भोजन की इन निषिद्ध वस्तुओं का सेवन कर सकें। अक्सर वे यह जानते नहीं हैं कि मिठाई या वसायुक्त (घी या तेल या क्रीम) पदार्थ हाइपोग्लाइसीमिया के दौरान नहीं खाना चाहिये। ऐसे भोजन में पाया गया वसा आंतों से ग्लूकोज को अवशोषित करने में देरी करता हैं और रक्त शर्करा स्तर की वृद्धि में देरी करता हैं , जिससे हाइपोग्लाइसीमिया की दशा में शीध्र सुधार नहीं हो पाता हैं।

बहुत सारे लोग अपने साथ त्वरित ग्लूकोज स्रोत रखने में विफल रहते हैं क्योंकि उन्हें लगता हैं कि भोजन हर जगह आसानी से उपलब्ध होता हैं, लेकिन यह धारणा गलत भी हो सकती हैं। लंबे समय तक रहने वाला हाइपोग्लाइसीमिया मस्तिष्क के ऊतकों या टिश्यु के लिये खतरनाक साबित हो सकता हैं। रोजमर्रा में कई ऐसी स्थितियां होती हैं जिनमें व्यक्ति को खाने के लिए कुछ भी नहीं मिल पाता, उदाहरण के लिये ट्रैफिक जाम, लिफ्ट में फंस जाना इत्यादि।