मधुमेह – लॉगबुक

सिर्फ रक्त ग्लूकोज के स्तर की जांच कर, ग्लूकोमीटर की स्मरण यादी (मेमोरी) में संग्रहीत करना और चिकित्सक से परामर्श करते समय दिखाना ही पर्याप्त नहीं हैं। रोगी को चाहिये कि इस डेटा को एक लॉग पुस्तिका में, दी गई निम्न विशिष्ट जानकारी के अनुसार दर्ज करें -

  • नाश्ते से पहले और बाद मे
  • दोपहर के भोजन से पहले और बाद में
  • रात के खाने से पहले और बाद में
इस से स्वास्थ्य देखभाल टीम रक्त ग्लूकोज और उसके पैटर्न का अंदाजा लगा सकती हैं, और दवाओं को तदनुसार बदला जा सकता हैं।

ग्लूकागन इंजेक्शन

मधुमेह से पीड़ित बच्चों के लिए यह किट बहुत जरूरी हैं। ग्लूकागन एक हार्मोन हैं, जो रक्त में ग्लूकोज के स्तर को बढ़ाने में मदद करता हैं। यह एक किट के रूप में आता हैं, जिसे इंजेक्शन लगाने से पहले पुन: प्रतिपादित या तैयार किया जाना चाहिए। निर्देश किट के साथ उपलब्ध हैं। यह उन हालतों में उपयोगी होता हैं जब किसी बच्चे को गंभीर हाइपोग्लाइसीमिया हो जाता हैं और वह मुंह से कुछ भी निगलने या खाने में असमर्थ होता हैं। इस स्थिति में बच्चा कभी-कभी बेहोश भी हो सकता हैं।

तब हाइपोग्लाइसीमिया को समाप्‍त करने का एकमात्र तरीका ग्लूकाकोन इंजेक्शन लगाना हैं। मधुमेह से पीड़ित उन बच्चों में इसका सर्वोपरि महत्व हैं,जिनकी शारीरिक गतिविधि और भोजन सेवन में व्यापक विविधता हो सकती हैं और इसलिए रक्त शर्करा के स्तर में भी विभिन्नता होती हैं । जैसे ही बच्चे को होश आता हैं, उसे मुंह से खाने या पीने के दिया जाना चाहिए ।