मधुमेह और व्यायाम


मधुमेह एक विकार हैं जिसमें जीवनशैली में बदलाव (शारीरिक गतिविधि और स्वस्थ भोजन करना), चीनी को नियंत्रित करने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं। नियमित व्यायाम दवारा टाइप 2 मधुमेह रोगियों के "चिकित्सा प्रबंधन" को "जीवनशैली प्रबंधन" के रूप में बदला जा सकता हैं।

मधुमेह से पीड़ित दवारा नियमित व्यायाम करने से रक्त शर्करा के बेहतर नियंत्रण और दवाओं के उपयोग में भी में 20% तक कमी हो जाती हैं।


मधुमेह में जब शर्करा का स्तर 200 से 250 मिलीग्राम / डीएल के बीच होता हैं तब व्यायाम को अक्सर चिकित्सा के एकमात्र रूप में सलाह दी जाती हैं, बशर्ते कोई अन्‍य निम्न जटिलताएं न हों :
  • आंख या रेटिनोपैथी के रक्त वाहिकाओं को नुकसान
  • नसों में नुकसान और हाथों-पैरों में रक्‍त संचार न हो, या न्यूरोपैथी
  • गुर्दे या नेफ्रोपैथी की समस्याएं
  • दिल से संबंधित समस्याएं जैसे- एनजाइना
टाइप 2 मधुमेह रोगियों के साथ, जो नियमित रूप से व्यायाम करते हैं, यह पाते हैं कि उनका रक्त ग्लूकोज बेहतर नियंत्रित होता हैं, लेकिन जब किसी दिन उनका शारीरिक गतिविधि कार्यक्रम छुट जाता हैं तब ग्लूकोज का स्तर भी बढ़ जाता हैं। आज कल मधुमेह के लंबे प्रबंधन के लिए व्यायाम को एक महत्वपूर्ण उपकरण माना जाता हैं।

किसी भी प्रकार की शारीरिक गतिविधि (जैसे घूमना, जॉगिंग, तैराकी, बैडमिंटन, टेनिस या इसी तरह की गतिविधियां करना) को अपनी दैनिक दिनचर्या में जरूर शामिल किया जाना चाहिए। ऐसी गतिविधि का चयन करना चाहिये जो आनंददायक और मज़ेदार हो और जिसे आप लंबे समय तक जारी रख सकें। व्यायाम की विविध किस्मों को चुने और उन्हें अपने जीवन-साथी या किसी मित्र के साथ करने से ऊब या बोरियत नहीं होगी।

ऐसा कुछ भी नहीं हैं,जो व्यायाम को स्थानापन्न कर सके ... अधिकांशतया बुरे आहार नियमों को जिनका अधिकांश पुरुष अनुसरण करते हैं, उनके द्वारा हुए नुकसान, व्यायाम करने से दूर हो जाते हैं। प्रत्येक शारीरिक गतिविधि व्यायाम नहीं हैं। व्यायाम एक प्रबल या तीव्र गतिविधि हैं या फिर इन दोनों का संयोजन हैं। यह वह सशक्त प्रयास हैं जो श्वास प्रक्रिया में बदलाव ला कर इसकी गति को बढ़ा देता हैं - मैमोनिड्स [1135-1204]