डायबिटिज मधुमेह आहार – ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई)

शोधकर्ताओं ने खाद्य पदार्थों की, रक्त में शर्करा बढ़ाने की उनकी क्षमता के अनुसार, उन्हें विभिन्न श्रेणी में विभाजित कर के एक ग्लिसेमिक इंडेक्स (जीआई) बनाया हैं। यह पाया गया कि हर खाद्य पदार्थ के रक्त ग्लूकोज अलग-अलग मात्रा में बढ़ते हैं। भोजन कितने समय में और कितनी आसानी के साथ ग्लूकोज में परिवर्तित हो जाता हैं, यह ग्लाइसेमिक इंडेक्स के मापदंड़ का आधार हैं ।

जी. आई खास कर के इस बात पर आधारित हैं कि एक विशेष भोजन कितनी जल्दी पच जाता हैं और फिर मेटाबॉलिज्ड /चयापचय हो कर, ग्लूकोज के रूप में कितनी देर में रक्तप्रवाह में मिल जाता हैं। अन्य कारकों का भी रक्त शर्करा के बदलाव में योगदान होता हैं, लेकिन जी.आई, केवल उन्ही खाद्य पदार्थो को इंगित करता हैं, जिन से रक्त में शर्करा के तेजी से बढ़ने की संभावनाये होती हैं।

जी.आई. एक पैमाने का उपयोग करता हैं, जिसमें संख्याओं के द्वारा, कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थों का कम से ले कर अधिकतम प्रभाव, रक्त शर्करा पर कितना होता हैं यह दर्शाया जाता हैं। वर्तमान में दो अनुसूचियों का प्रयोग किया जाता हैं। पहले में 1 से 100 के मापन काउपयोग किया जाता हैं, जिसमें ग्लूकोज टेबलेट 100 का प्रतिनिधित्व करती हैं, जिसका रक्त शर्करा पर सबसे तेज़ प्रभाव पड़ता हैं। यह ग्लूकोज इंडेक्स का उपयोग करती हैं। दूसरा सूचक 100 के मापन या पैमाने का उपयोग करता हैं, जिसमें सफेद ब्रेड 100 संख्याक का प्रतिनिधित्व करती हैं। इसलिए कुछ खाद्य पदार्थ 100 से भी ऊपर होंगे।

जितना उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जी.आई) होगा, रक्त शर्करा में उतनी तेज वृद्धि होगी ।


ग्लाइसेमिक इंडेक्स आहार
91शहद
86मसले हुए आलू
83कॉर्न फ्लेक्स
72सफेद ब्रेड
64शक्कर
61केला
53दलिया (ओटमील)
50शक्‍कर कंद
49पंपरनिकल ब्रेड
38सेब

डायबिटिज की प्रभावकारी आहार योजना जी.आई को ध्‍यान में रखकर बनाई जा सकती हैं ।