विषाक्त भोजन

विषय में
भोजन में विषाक्तता, खाद्य जनित बीमारी के रूप में भी जाना जाता हैं और यह तब होता हैं जब आप जिस भोजन या पेय का सेवन करते हैं वह वायरस, बैक्टीरिया, पेरासाइट/परजीवी या टाक्सिन से दूषित होता हैं, जो कि जहरीले पदार्थ हैं। ये जहरीले पदार्थ, खाद्य पदार्थों को संसाधित या उत्पादन के दौरान किसी भी क्षण दूषित कर सकते हैं। यदि घर पर भी खाद्य पदार्थों को ठीक तरह से पकाया या रखा नहीं जाये तो वे भी दूषित हो सकते हैं।

कारण
  • बैक्टीरिया और वायरस
  • पैरासाइट/परजीवी
  • फफूंद, विषाक्त पदार्थ और संदूषित पदार्थ
  • एलर्जी उत्पन्न करने वाले तत्व ।
लक्षण
  • जी मिचलाना
  • उल्टी आना
  • दस्त लगना
  • बुखार आना
  • सिरदर्द होना
  • पेट में ऐंठन होना
  • पानी की कमी हो जाना ।
उपचार
विषाक्त भोजन के उपचार निम्न हैं -
  • सुनिश्चित करें कि आप पानी की कमी को पूरा करने के लिये पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें और भरपूर आराम करें ।
  • एक गिलास हल्का गुनगुना पानी लें, उसमें चुटकी नमक और चीनी में नींबू की कुछ बूंदे मिलाकर, अच्छी तरह हिलाकर पी जाएं।
  • हल्के आहार का सेवन करें : बिना मसाले के स्वादहीन क्रैकर्स, ब्रेड, सादे चावल या केला ।
  • सूजन और दर्द को कम करने के लिये एक बड़े चम्मच में शहद की कुछ बूंदों में अदरक का रस मिलाकर लें।
  • सुबह जल्दी खाली पेट तुलसी के पतों का रस पेट की पाचन शक्ति को बढ़ाता हैं।
  • यदि उल्टी और दस्त 2 दिन से ज्यादा रहते हैं, तब आपको चिकित्सक से सलाह लेना आवश्यक हैं ।
इनसे बचें
  • गैर-पैस्चराइज़्ड/आंशिक रूप से रोगाणुनाशक दूध या उससे बने उत्पादों का प्रयोग करने से बचें।
  • किसी भी खाद्य पदार्थ या उत्पादों को खरीदने से पहले उसकी समाप्ति की तारीख की जाँच करें। लेबल पर उल्लेखित समाप्ति तारीख के बाद वाले खाद्य उत्पादों का सेवन मत करें।
  • कच्चा/बहुत हल्का पकाया गौमांस, मुर्गा, अंडे या मछली का सेवन मत करें।
  • ऐसे खाद्य पदार्थों को दूर रखें या फेंक दें जिनमें से असामान्य गंध आ रही हैं या स्वाद खराब प्रतीत होता हैं।
  • कमरे के तापमान पर खाद्य पदार्थों को ना पिघलायें।
  • फ्रिज में खाद्य पदार्थ रखते समय, कच्चा भोजन, जैसे मांस और पोल्ट्री को पके खाने से अलग रखें ताकि दूषण से बचा जाए।
  • कच्चे मांस, समुद्री भोजन, मुर्गी या सब्जियों को पकाने से पहले और बाद में बर्तन अच्छी तरह से धो लें।
  • फटे, खरोंच युक्त या किसी तरह की खराबी वाले जार या डिब्बे में पैक किये गये खाद्य पदार्थ मत खरीदें।
रोकथाम
  • खाना पकाने, खाते समय, खाने को संभालते समय, शौचालय में जाने के बाद, कूड़े के डिब्बे का स्पर्श करने पर, नाक सुड़कने या जानवरों या पालतू जानवरों को छूने के बाद अपने हाथ साबुन और पानी के साथ अच्छी तरह धो लें।
  • नियमित रूप से बर्तन पौंछने वाले कपड़े और चाय के तौलियों को धोएं, और उन्हें दुबारा उपयोग करने से पहले सुखा लें।
  • कच्ची सब्जियों, मांस उत्पादों और खाने के लिए तैयार खाद्य पदार्थों को काटने के लिये अलग -अलग बोर्डों का प्रयोग करें।
  • कच्ची सब्जियों और फलों को खाने से पहले अच्छी तरह से धोएं, विशेष रूप से जब आप उनका सेवन कच्चे रूप में करते हैं।
  • केवल उन्ही फलों के जूस पियें जिन्हें पैस्चराइज़्ड किया गया हैं।
  • बर्फ में जमें हुये खाद्य पदार्थ को रेफ्रिजरेटर या माइक्रोवेव में डिफ्रास्ट सेटिंग का उपयोग करते हुए पिघला लें।
  • सूअर का मांस, बर्गर, सॉसेज़, मुर्गी और कबाब के तरह का खाना, तब तक ना खायें जब तक की वे ठीक से ना पकें या पूरी तरह से वाष्प-गर्म नहीं हो जाते।
  • पीने और खाना पकाने के लिए उबला हुआ या विशुद्ध पानी का उपयोग करें।
Post a Comment

Comments should be on the topic and should not be abusive. The editorial team reserves the right to review and moderate the comments posted on the site.



Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.

Advertisement