कोविड़-19 के प्रकोप की चिंता से लड़ने के सरल 5 तरीके

मुख्य विशेषताएं:
  • लोगों ने कोरोना वायरस चिंता से टॉयलेट पेपर से लेकर सील की गई पानी की बोतलों तक सब कुछ जमा कर लिया हैं।
  • जिन समाचारों से आप चिंतित या व्यथित महसूस करते हैं, उन्हें पढ़ने, देखने या सुनने से बचें।
  • कोविड़-19 संकट के दौरान चिंता को हराने और अपने मानसिक स्वास्थ्य की रक्षा करने के लिए आप केवल आराम करें, शांत रहें, अफवाहों से बचें और भरोसेमंद समाचार स्रोतों पर ही भरोसा करें।

  • कोविड़-19 के फैलने पर बहुत सारी अफवाहों, प्रसारित खबरों और फर्जी खबरों नें चिंता को जन्म दे कर दुनिया के सभी हिस्सों में रहने वाले लोगों के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर दिया हैं। इसलिए कोरोनोवायरस चिंता को दूर करने के लिए आवश्यक सावधानी बरतने से आपके संपूर्ण मानसिक स्वास्थ्य और स्वास्थ्य की रक्षा हो सकती है ।

    एक संक्रामक बीमारी को पकड़ने के बारे में चिंता करना या अपने परिवार की देखभाल करते समय तनाव हो सकता है। मैकलीन के नाथनियल वान किर्क, पीएचडी, कैथरीन डी. बोगर, पीएचडी, एबीपीपी, और मारनी जे. चैनॉफ, एमडी, ने इस अनिश्चित समय के दौरान आपके और आपके परिवार के लोगों को मानसिक रूप से संतुलित और सुरक्षित रखने के तरीकों को बताया हैं।

    1. विश्वस्त सूत्रों की सूचना मानें
    मीडिया क्षेत्र से होने वाले सूचना के हमले को देखते हुए, यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण होगा कि आपको प्रतिष्ठित स्रोतों से जागकारी मिल रही हो । अच्छे स्रोतों में शामिल हैं:
      रोग नियंत्रण केंद्र
      विश्व स्वास्थ्य संगठन
      अभिघातजन्य तनाव के अध्ययन के लिए केंद्र
      ये संस्थाये उन तत्वों को जो समाचारों को एक सनसनीखेज बनाने में मदद करते हैं, उन को निकाल कर समय-समय पर अद्यतन कर के विश्वस्त जानकारी प्रदान करते हैं ।

      2. शांत रहें
      जब चिंता और भयावह स्थिति की बात आती है, तो हम खुद को सामान्य सोच के जाल में फँसा पाते हैं और अतिरूढ़िवादी विचारधारा को मानने के रास्ते पर चल पड़ते हैं। इस स्थिति से मुकाबला करने के लिए, हमे खुद को संभालने की कोशिश करना चाहिये।

      3. सुयोजना बनायें
      एक सूची बनायें जिस पर आप निर्भर हो सकें। इसमें आवश्यक खाद्य आपूर्ति और दवाओं के साथ स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर और कार्य में सहयोगीयों, मित्रों और रिश्तेदारों संपर्क के नाम शामिल करिये। अपनी सूची में जो सामान कम हो गया हैं उसे फिर से भरे और आपके संपर्क विवरण कोअद्यतन या अपडेट करते रहें। अपनी योजनाओं में दूसरों को भी सूचीबद्ध करें,जो आपको मदद कर सकते हैं। यदि आप अकेले रहते हैं, तो जो लोग सहायक हो सकते हैं उन्हें अपनी सूची में शामिल करें ।

      4. भावनाओं को नाम और मान्यता देवें
      भयावह समय में अपनी भावनाओं को पहचानना हर किसी के लिए मददगार होता है। ऐसे कई वयस्क हैं जो कोरोनोवायरस की स्थिति के बारे में चिंतित हैं, खुद के लिए और अपने प्रियजनों के लिए भी, और यह जानना महत्वपूर्ण हैं कि हम जो दिखा रहें हैं वह सही हैं कि नहीं। इसलिये प्रियजनों से बात करने से पहले हमारी भावनात्मक स्थिति पर जाँच कर के उन्हें नियंत्रित करें।

      5. खुद का ख्याल रखना
      आपको जीवन-शैली में परिवर्तन करके नयापन लाना जरूरी हैं। नींद, पौष्टिक भोजन, अच्छी स्वच्छता, व्यायाम, ताजी हवा, लोगों के साथ जुड़ना - ये मूल बातें हैं और यह एक अच्छा स्मरण पत्र है कि अब जो परामर्श दिया जा रहा हैं वही हमें इस महामारी से निकलने के बाद भी हर समय करना हैं। नकारात्मक स्थितियों का सामना करने के लिये प्राणायाम और सकारात्मक सोच वाली गतिविधियों के माध्यम से चिंता का प्रबंधन किया जा सकता हैं।

      सीख
      विशेषज्ञों का मानना है कि इस स्वास्थ्य संकट की सबसे बड़ी सीख यह हैं कि हमें अपना ध्यान रखने की जरूरत हैं। दैनिक जीवन में संतुलन बनाए रखना और अपने दिन को 'अगले दिन के समाचारिय शीर्षक' में भस्म नहीं होने देना हैं। दैनिक जीवन की अनिश्चितता में परिप्रेक्ष्य बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

      संदर्भ:
        कोविड़-19 प्रकोप के दौरान चिंता को कम करने के 5 तरीके - (https://www.mcleanhospital.org/news/5/ways -reduce चिंता-दौरान-कोविड़-19 - प्रकोप)
        स्रोत-न्यूज़वाइज़
    Post a Comment

    Comments should be on the topic and should not be abusive. The editorial team reserves the right to review and moderate the comments posted on the site.



    Medindia Newsletters

    Subscribe to our Free Newsletters!

    Terms & Conditions and Privacy Policy.