रक्त शक्कर तालिका (कैलक्युलेटर)

Font : A-A+

मधुमेह के इलाज की सफलता इस बात पर निर्भर करती हैं कि आप अपनी शक्कर को कितनी अच्छी तरह से नियंत्रित करते हैं। सबसे पहले आप एक सूची बनाए और उसमें नियमित रूप से शक्कर का जो माप आता हैं, उसे कलमबद्ध करें। कुछ समय के बाद आप पाऐगें कि एक तरह का नक्शा उभरने लगा हैं। यह ऊपर नीचें होता नक्शा आपको यह बतलाता हैं कि किस तरह से आप अपनी रक्त शक्कर में हो रहे उतार चढ़ाव को सही खान पान, कसरत और दवाईयों के साथ नियंत्रित कर सकते हैं।
मधुमेह के तीन स्तर होते हैं एक सामान्य व्यक्ति का, दूसरा मधुमेह का प्रारंभिकस्तर और तीसरा स्थापित मधुमेह। इसी तरह रक्त शक्कर परिक्षण भी तीन तरह का होता हैं: खाली पेट, भोजन के दो घंटे के बाद और ग्लूकोज सहिष्णुता परीक्षण (GTT)। रक्त शक्कर तालिका ऊपरोक्त प्रकार के परिक्षणों का मिलीग्राम / डेसीलीटर के रूप में परिणाम बतलाता हैं।
व्यक्ति की श्रेणी खाली पेट का माप खाने के बाद का माप
न्यूनतम मान अधिकतम मान खाने के दो घंटे के बाद का माप
साधारण 70 100 कम से कम 140
प्रारंभिक मधुमेह 101 126 140-200
स्थापित मधुमेह 126 से अधिक - 200 से अधिक
* सभी मूल्यों मिलीग्राम में हैं
यदि आपने हाल ही में रक्त शक्कर परीक्षण या ग्लूकोज सहिष्णुता परीक्षण लिया है तो हम आपको मधुमेह है या नहीं यह पता लगाने में आपकी मदद कर सकते हैं।
रक्त शक्कर तालिका (कैलक्युलेटर)
जाँच का प्रकार चुनें *
रक्त ग्लूकोज मान प्रकार का चयन करें * मिलीग्राम / डेसीलीटर     mmol / एल
रक्त ग्लूकोज मान का चयन करिए*
* अनिवार्य
(नोट: यदि आप गर्भवती हैं और किसी कारण वश ग्लूकोज सहिष्णुता परीक्षण लेती हैं तो इस तालिका का परिणाम आप पर लागू नहीं होगा। इसका कारण यह हैं कि गर्भ की अवस्था में स्त्रियों में रसायनिक तत्व (हॉरमोनस) का माप असंतुलित हो जाता हैं और कुछ महीनों के लिए शक्कर रोग हो जाता हैं जो बच्चा होने के बाद ठीक हो जाता हैं।)

मधुमेह नियंत्रण तालीका

मधुमेह के विषय में महत्वपूर्ण वास्तविक तत्थ :

  • ग्लुकोज यह एक आम साधारण शक्कर हैं जो वनस्पति और पशु जगत में ऊर्जा प्रदान करने वाला मुख्य आणविक स्तोत्र हैं।
  • अग्न्याशय (पाचक गंथ्रि) इंसुलिन नामक एक महत्वपूर्ण रसायनिक तत्व को, ऊत्पन्न कर हमारे शरीर की रक्त शर्करा मात्रा को संतुलित करता हैं।
  • असंतुलित रक्त शर्करा मात्रा हृदय रोग, गुरदे का रोग और अंधापन जैसे जटिल, रोगों को बढावा देती हैं।
  • ग्लुकोज की सघनता /बढ़ोतरी खून में शक्कर को बढ़ाती हैं जिससे रोगी मधुमेह सम्मुर्छित(बेहोशी की नींद) हो जाता हैं।
Post a Comment

Comments should be on the topic and should not be abusive. The editorial team reserves the right to review and moderate the comments posted on the site.




हिन्दी कैलक्युलेटर



Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.