इन उपायों को अपनाएं और रूसी को कहें बाय-बाय !

रूसी एक समस्या ?

रूसी यह सिर के उपरी हिस्से को प्रभावित करती हैं । इस अवस्था में सिर की नई कोशिकाएं पुरानी कोशिकाओं द्वारा आम समय से ज्यादा जल्दी बदलती हैं। इससे सिर की ऊपरी त्वचा रूखी हो जाती हैं और उसमें खुजली महसूस होती हैं।

रूसी होने के कारण

हालांकि रूसी होने का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका हैं लेकिन वैज्ञानिकों का कहना हैं कि रूसी गंदगी व कई अन्य वजहों से पैदा होती हैं ।

खमीर : काफी लोग खमीर को लेकर संवेदनशील होते हैं, इसलिए सर्दियों के मौसम में उन्हें रूसी से होने वाली परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं ।

रूखी त्वचा : जरूरत से ज्यादा रूखी त्वचा में रूसी होने की संभावना अधिक रहती हैं । ठंडी हवा व अन्य मौसम चरम पर होने पर स्थिति और खराब हो जाती हैं ।


त्वचा के प्रकार: जो व्यक्ति सोरायसिस, एक्जिमा और अन्य चर्म रोग जैसी बीमारियों से पीड़ित होते हैं, उनमें रूसी की समस्या ज्यादा पाई जाती हैं ।

सेर्बेहिक डेरमाटिटिस : यह वह अवस्था हैं, जो न केवल व्यक्ति के सिर के ऊपर की त्वचा को खराब करती हैं बल्कि भौं, नाक के बगल का भाग, स्तन की हड्डी, कान के पीछे का भाग और शरीर के कई अन्य भागों को प्रभावित करती हैं । इससे पीड़ित व्यक्ति के रूसी से पीडि़त होने की संभावना अधिक होती हैं ।

एलर्जिक रिएक्शन : संवेदनशील त्वचा वाले व्यक्ति जब बाल काले करने के लिए डाय, शैम्पू, कंडिशनर या हानिकारक रासायन के संपर्क में आते हैं तो उनकी त्वचा पर चकत्ते, खुजली आदि समस्या उत्पन्न हो जाती हैं । इसके अलावा इनके बालों में अधिक रूसी होने की संभावना भी बढ़ जाती हैं ।

अन्य कारक : तनाव, शरीर में कुछ आवश्यक तत्वों की कमी और कुछ बीमारियों के कारण हमारे बालों में रूसी उत्पन्न होती हैं।

आपके काले कोट पर कुछ सफेद कणों व रूसियों का फैलना आपको शर्मिंदा कर सकता हैं । हालांकि आप राहत के तौर पर इसे साफ कर सकते हैं किंतु ये इसका स्थायी समाधान नहीं हैं । आप घर बैठे कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इस रूसी की समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं ।

रूसी दूर करने के घरेलू उपाय

दही की शक्ति : दही व्यक्ति के बालों के लिए कई प्रकार से लाभकारी होता हैं । बाल व सिर को हानिकारक रासायन से साफ करना जहां एक तरफ आपके बालों में रूसी पैदा करता हैं वहीं दूसरी ओर आपके सिर की त्वचा को रूखा और बेजान बनाता हैं । दही से त्वचा में नमी आती हैं और यह उन कारकों को ठीक करने की क्षमता रखता हैं जो सर में रूसी पैदा करते हैं । शैंपू करने के तुरंत बाद व्यक्ति को सिर पर दही का लेप लगाना चाहिए और उसे 10-15 मिनट के लिए छोड़ देना चाहिए उसके बाद बालों को धो लेना चाहिए ।

कंघी करना : शैंपू करने के तुरंत बाद कंघी करने से सिर में रूसी की समस्या नहीं रहती हैं । बाल में कंघी करने से खोपड़ी का रक्त संचरण सही होता हैं इससे बालों को लाभ मिलता हैं । इससे सिर में प्राकृतिक तेल का प्रवाह होता हैं और सूखापन नहीं रहता ।


सेब का सिरका : लोगों को मुहांसों की समस्या से निजात पाने के लिए सेब का इस्तमाल करते आपने कई बार देखा होगा पर ये रूसी को दूर करने में भी काफी लाभकारी होता हैं । दरअसल सेब फंगस को दूर करता हैं, जिससे रूसी होने की संभावना लगभग नहीं के बराबर को जाती हैं । रूसी दूर करने का यह आसान व सरल घरेलू उपाय हैं । सिर के बालों को पहले धोएं उसके बाद उस पर सेब का सिरका लगाएं और कुछ देर बाद उसे धो लें। इससे काफी लाभ मिलेगा ।


नारीयल का तेल : रूसी को दूर करने का सबसे बेहतर और सर्व सुलभ घरेलू तरीका नारीयल का तेल हैं । यह सिर की त्वचा में नमी लाता हैं, उसे सूखा होने से बचाता हैं । इस नमी की वजह से सर में रूसी नहीं पड़ती हैं । सिर पर हल्के गर्म नारियल तेल से मसाज करें और उसे कुछ देर के लिए छोड़ दे फिर बाद में धो लें।


मेथी के बीज : विश्वास करें या न करें लेकिन मेथी का बीज रूसी को दूर करने में काफी लाभकारी होता हैं । रूसी को खत्म करने का यह प्राकृतिक रूसी विरोधी तत्व हैं । मुठ्ठीभर मेथी को पीस लें और उसे पूरी रात पानी में फूलने दें । अगले दिन पानी को निकाल कर सिर पर उस लेप को लगाएं और कुछ देर बाद धो लें ।


टी ट्री आयल/ तेल : टी ट्री आयल को ठंडा करने के लिए जाना जाता हैं । यह त्वचा को नमी देता हैं और उसे रूखा होने से बचाता हैं । इसे सीधे सिर पर लगाना चाहिए और कुछ देर छोड़ने के बाद धो लेना चाहिए । जिस शैंपू में टी ट्री आयल होता हैं, उसके इस्तेमाल से भी काफी लाभ मिलता हैं ।