किसी भी व्यायाम कार्यक्रम को एक आदर्श कार्यक्रम के रूप में वर्णित नहीं किया जा सकता। प्रत्येक के अपने फायदे हैं।

पैदल चलना

यह शारीरिक गतिविधि का सबसे सुरक्षित, आम और सबसे सस्ता प्रकार हैं। हम सभी को एक अच्‍छे जूते और खेल के मोजे खरीदने की ज़रूरत हैं। यह किसी भी उम्र के लोगों द्वारा कहीं भी किया जा सकता हैं। यह उन लोगों के लिये भी आदर्श हैं जिन्‍हें शारीरिक गतिविधि की आदत नहीं हैं। यह पसंद के अनुसार शरीर को गरम या शान्‍त रखने की बेहतर गतिविधि हैं।

जॉगिंग

कुछ लोग जॉगिंग करना पसंद करते हैं क्योंकि यह ज्‍यादा मजेदार हैं। यह अधिक गहन होती हैं और इसमें समान व्यायाम की तुलना में कम समय की आवश्यकता होती हैं। आरामदायक जूतों की जोड़ी, हो सके तो अतिरिक्त कुशनिंग के साथ उपयोग किये जाने चाहिए। कड़ी सतह पर जॉगिंग करने से बचना चाहिए। इससे पहले कि जूते फट जाएं उन्‍हें बदल देना चाहिए। जॉगिंग की आदत डालने के लिए, बेहतर होगा कि हम पहले पैदल (वार्म अप करें) चलें और फिर कुछ मिनट जॉग करें और उसके फिर बाद दुबारा पैदल चलें,इस प्रक्रिया को दोहराएं, और अंत में चलें जैसा कि शांत होने (कूल डाउन) के चरण में बताया गया हैं।

वजन उठाना (भारतौलन)

इसमें बड़ी मांसपेशियों का उपयोग होता हैं जिसमें अधिक कैलोरी ख़र्च होती हैं। जिम या हेल्थ क्लब में छोटा भार भी उठाया जा सकता हैं। व्‍यक्ति को हल्का वजन उठाकर यह अभ्‍यास शुरू करना चाहिए और फिर धीरे-धीरे वजन में वृद्धि करते जाना चाहिए। जैसे जैसे मांसपेशियां मजबूत हो जाती हैं ओर अधिक वजन उठाया जा सकता हैं। इससे ऑस्टियोपोरोसिस या गठिया कम करने में मदद मिलती हैं और मांसपेशियों का निर्माण होता हैं, विशेष रूप से बुजुर्गों में। इससे दिल के दौरे के खतरे में भी कमी होती हैं। इस प्रकार के व्यायाम में मांसपेशियों द्वारा ग्लूकोज ग्रहण किया जाता हैं और ग्लूकोज संग्रह करने की उनकी क्षमता में वृद्धि होती हैं।

कई व्यक्ति इन व्यायाम अभ्‍यासों का निम्न कई कारणों से पालन नहीं करते:
  • व्यायाम के लाभों के बारे में अज्ञानता
  • व्यायाम से दुर्घटनाओं का डर
  • व्यायाम की आवश्यकता के कारण जीवनशैली में कुछ बदलावों के अनुकूल होने की अक्षमता
  • परिवार या दोस्तों से कोई नैतिक समर्थन नहीं प्राप्‍त होना
  • पुरानी बीमारी
  • बुढ़ापा।
ऐसे मामलों में, वैकल्पिक व्यायाम कार्यक्रम, जैसे प्रत्‍येक घंटे या घर में हर दूसरे घंटे 10 मिनट पैदल चलना, घर की सफाई, बागवानी करना और घर के आसपास अतिरिक्त घरेलु काम करने से मदद मिल सकती हैं।

Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.

Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.