Sabin Vaccine Institute ने COVID-19 की गलत सूचना की जांच करने और वैक्सीन स्वीकृति बढ़ाने के समाधान डिज़ाइन करने के लिए शोधकर्ताओं को दिया अनुदान

Comment
वॉशिंगटन, Jan. 13, 2021 (GLOBE NEWSWIRE) -- Sabin Vaccine Institute (Sabin) ने आज घोषणा की है कि उसने चार देशों में शोध टीमों को COVID -19 की गलत सूचना फ़ैलाने वाले सामाजिक कारकों का पता लगाने के लिए और नियमित टीकाकरण स्वीकृति और COVID-19 वैक्सीन की स्वीकृति पर इसके प्रभाव का पता लगाने के लिए अनुदान दिया है.

ये अनुदान Sabin के ‘टीकाकरण स्वीकृति छोटे अनुदान कार्यक्रम के लिए सामाजिक और व्यवहार हस्तक्षेप’ का हिस्सा हैं. यह टीकाकरण स्वीकृति पर उनके प्रभाव का आकलन करने के लिए, टीकाकरण के सामाजिक कारकों को बेहतर ढंग से समझने और छोटे पैमाने पर हस्तक्षेप करने के लिए निम्न और मध्यम आय वाले देशों में शोधकर्ताओं को धन मुहैया कराता है.

भारत, केन्या, पाकिस्तान और युगांडा की पांच अनुसंधान टीमों को इस शोध का संचालन करने के लिए $30,000 तक का अनुदान मिलेगा और उन्हें 10 महीने की अवधि में अपने-अपने समुदायों में छोटे पैमाने पर हस्तक्षेप करना होगा.

इस सहायता के माध्यम से Sabin शैक्षिक शोधकर्ताओं, स्वास्थ्य अधिकारियों और स्थानीय समुदायों के बीच सहयोग को प्रोत्साहित कर रहा है.अनुदानकर्ताओं के पास Sabin के नेतृत्व वाले अंतःविषय टीकाकरण स्वीकृति अनुसंधान नेटवर्क के साथ संबंध बनाने और टीकाकरण के लिए उनके शोध और सामाजिक विज्ञान के संभावित अनुप्रयोगों के बारे में प्रभावशाली बातचीत करने का अवसर होगा. टीकाकरण स्वीकृति अनुसंधान नेटवर्क, वैक्सीन स्वीकृति और मांग को संबोधित करने वाले सामाजिक वैज्ञानिकों और सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों का एक अंतरराष्ट्रीय समूह है.Sabin प्रत्येक अनुसंधान दल को एक खुली पहुंच पत्रिका प्रकाशन के संकलन और प्रसार में भी सहयोग करेगा, जिसमें उन समुदायों तक पहुंच हो, जिनमें शोध किया गया है.जारी COVID-19 महामारी के कारण, परियोजनाओं के सभी घटकों को अनुसंधान टीमों और उनके साथ काम करने वाले समुदायों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ऑनलाइन संचालित किया जाएगा.

Sabin में वैक्सीन स्वीकृति और मांग के उपाध्यक्ष Kaitlin Christenson ने कहा कि “कम और मध्यम आय वाले देशों में वैक्सीन स्वीकृति को बेहतर ढंग से समझना पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है.”“COVID-19 वैक्सीन की अपेक्षित शुरुआत की वजह से टीके को स्वीकार करने और मांग के बारे में अधिक जानने की आवश्यकता है. साथ ही, समग्र टीकाकरण में सुधार को जारी रखते हुए, हस्तक्षेप रणनीतियों के साथ सामुदायिक टीकाकरण कार्यक्रमों पर काम करने की आवश्यकता है.”

2020 के Sabin अनुदान में शामिल हैं:

भारत में डॉ. राजीव सेठ, एमबीबीएस, एमडी, डीएनबी, एक वरिष्ठ सलाहकार बाल रोग विशेषज्ञ, जो नई दिल्ली के एक गैर-लाभकारी संगठन बाल उमंग नाट्य संस्थान, के प्रमुख हैं. यह संस्था हाशिए पर रहे बच्चों के लिए बाल स्वास्थ्य और कल्याण पर केंद्रित है. डॉ. राजीव वैक्सीन के बारे में सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता के धारणाओं और टीके के बारे में गलत सूचनाओं का अध्ययन करने के लिए शोधकर्ताओं की एक टीम का नेतृत्व करेंगे.सह-जांचकर्ता, जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ से हैं, जिनका प्रतिनिधित्व इंटरनेशनल वैक्सीन एक्सेस सेंटर के अंदर इंटरनेशनल हेल्थ डिपार्टमेंट से बलदीप धालीवाल, एमपीएच और डॉ. अनीता शेट, एमडी करते हैं. ये प्रोजेक्ट पर डॉ. सेठ और शोधकर्ताओं की एक टीम के साथ सहयोग करेंगे.ऑनलाइन अध्ययन हरियाणा, भारत के मेवात जिले में बहु-प्रतीक्षित सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता हस्तक्षेपों पर काम करेगा, ताकि टीका स्वीकृति के लिए बाधाओं को दूर किया जा सके.

केन्या में, डॉ. बेन्सन वमलवा, एमएससी, पीएचडी, नैरोबी विश्वविद्यालय के अनुसंधान वैज्ञानिक और लेक्चरर हैं. ये केन्या के टांस नोजिया में COVID-19 की बेहतर समझ धारणाओं और COVID-19 वैक्सीन को स्वीकार करने की समुदाय की इच्छा के लक्ष्य के साथ, विश्वसनीय सामाजिक नेटवर्क में COVID-19 के बारे में गलत सूचना का ऑनलाइन अध्ययन करने के लिए एक टीम का नेतृत्व करेंगे.अनुसंधान दल तब एक हस्तक्षेप का कार्यान्वयन और मूल्यांकन करेगा जो COVID-19 के बारे में गलत सूचना को टेलीकॉन्सेशन के माध्यम से डिबंक करेगा.केन्या की एएमयूएए के मातृ नवजात और बाल स्वास्थ्य इकाई की मुख्य रजिस्ट्रार, पंजीकृत नर्स क्रिसेंटस वामेला, प्रोजेक्ट में मार्गदर्शन करने वाले सह-अन्वेषक के रूप में टीम में शामिल हैं.

पाकिस्तान में, अब्दुल मोमिन काज़ी, एमपीएच, एमबीबीएस, कराची में आगा खान विश्वविद्यालय में बाल रोग और बाल स्वास्थ्य में सहायक अनुसंधान प्रोफेसर हैं. कराची में शहर के आस-पास स्वास्थ्य देखभाल करने वालों के बीच बचपन के टीकाकरण की धारणा और बाधाओं का अध्ययन करने के लिए एक ऑनलाइन अनुसंधान प्रोजेक्ट का नेतृत्व करेगा.शोध टीम COVID-19 के दौरान बचपन के टीकाकरण में सुधार पर मोबाइल स्वास्थ्य-आधारित हस्तक्षेपों और सोशल मीडिया की भूमिका का भी पता लगाएगी.डॉ. फ़ौज़िया अमान मलिक, पीएचडी, एमएससी, येल विश्वविद्यालय में वैश्विक स्वास्थ्य अनुसंधान पहल के लिए डीन की विशेष सलाहकार, प्रोजेक्ट पर सह-अन्वेषक के रूप में काम करेंगी.

पाकिस्तान में ही, रुबीना कासिम, एमएससी, कराची में डॉव विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य विज्ञान में एक प्रमुख शोधकर्ता और लेक्चरर हैं. यह एक शोध दल का नेतृत्व करेंगी, जो लांधी टाउन, कराची में शहरी झुग्गीवासियों के बीच COVID -19 और टीकाकरण से जुड़े गलत सूचना की खोज करेगा.उनके शोध के बाद, टीम एक उपयुक्त हस्तक्षेप को लागू करने के लिए समुदाय के सदस्यों के साथ काम करते हुए एक सह-डिज़ाइन दृष्टिकोण बनाएगी, जिसमें COVID-19 से संबंधित गलत सूचना और COVID-19 वैक्सीन की स्वीकृति पर इसके प्रभाव को संबोधित किया जाएगा.डॉ. मोहम्मद ताहिर यूसफ़ज़ई, पीएचडी, सलाहकार महामारी विज्ञानी और आगा खान विश्वविद्यालय में वरिष्ठ प्रशिक्षक, प्रोजेक्ट में सह-अन्वेषक के रूप में शामिल होंगे.

युगांडा में, डॉ. फ़्रेडी किट्टू, पीएचडी, हेल्थकेयर सिस्टम के लेक्चरर, फ़ार्मासिस्ट, और मेकरेरे विश्वविद्यालय में स्कूल ऑफ़ हेल्थ साइंसेज के डीन, एक टीम का नेतृत्व करेंगे, जो बुइक्वे जिले में गलत सूचना के प्रसार और प्रभाव का अध्ययन करेगी.उनके शोध के बाद, टीम COVID-19 से जुड़े गलत सूचना और टीकाकरण को लेकर झिझक को दूर करने के लिए, सामुदाय को प्रभावित करने वाले समूहों को प्रशिक्षित और सशक्त बनाएगी.ऑनलाइन अध्ययन समुदाय समूहों और सामुदाय को प्रभावित करने वाले समूहों के माध्यम से संवाद आधारित सामाजिक गतिशीलता हस्तक्षेप का पता लगाएगा.जैक्वेलिन नांबी शान्या, मेकर हेल्थ यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ से एमपीएच, सह-अन्वेषक के रूप में इस प्रोजेक्ट में शामिल हैं.

Sabin Vaccine Institute के बारे में

Sabin Vaccine Institute, वैक्सीन की पहुंच बढ़ाने और विश्व स्तर पर आगे बढ़ने में अग्रणी है, जो वैक्सीन अनुसंधान और विकास को आगे बढ़ाता है, और टीकाकरण से संबंधित ज्ञान और नवाचार को बढ़ाता है.साझेदारी के माध्यम से टीकों की क्षमता को उजागर करते हुए, Sabin ने रोके जाने वाले रोगों से मुक्त भविष्य के अपने दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए अनुदानकर्ताओं, नवप्रवर्तकों, कार्यान्वयनकर्ताओं, चिकित्सकों, नीति निर्माताओं, और सार्वजनिक हितधारकों का एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र बनाया है.दो दशकों से अधिक के अनुभव के साथ एक गैर-लाभकारी संस्था के रूप में, Sabin उन समाधानों को खोजने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जो सभी लोगों को टीके के पूर्ण लाभ देते हैं, भले ही वे कोई भी हों या कहीं के भी हों.Sabin में, हम दुनिया को बदलने के लिए टीकों की शक्ति में विश्वास करते हैं.अधिक जानकारी के लिए, www.sabin.org पर जाएं और हमें Twitter पर फ़ॉलो करें, @SabinVaccine.

मीडिया संपर्क:
Mary Beth Wooden
Sabin Vaccine Institute
+1 (202) 842-5025
press@sabin.org

Source : GlobeNewswire
Post a Comment

Comments should be on the topic and should not be abusive. The editorial team reserves the right to review and moderate the comments posted on the site.



Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.

Advertisement