कोविड-19 के टीकाकरण की अनुसूची की निगरानी करने के लिए जल्द ही कोविन-20 मोबाइल ऐप आरम्भ होगा

मुख्य अंश:
  • सभी भारतीय नागरिकों को कोविड-19 के वैक्सीन टीकाकरण के लिए आवेदन सुनिश्चित होगा।
  • लाभार्थियों का प्राथमिकताकरण उनके स्वास्थ्य की रूपरेखा को ध्यान में रखते हुये किया जाएगा।
  • यह ऐप टीकाकृत व्यक्तियों के रिकॉर्ड को अनुरक्षित कर के, सभी नागरिकों को टीकाकरण का अवसर सुनिश्चित करेगा।
इस साल की शुरुआत में, कोविड-19 संक्रमण के प्रकोप पर नज़र रखने केलिए सरकार ने आरोग्य सेतु ऐप लॉन्च किया था। उसे ही आगे बढ़ाते हुये सरकार कोविन-20 मोबाइल ऐप लॉन्च कर रही हैं और उन्हें आशा हैं कि यह भी भारतीयों के बीच उसी तरह लोकप्रिय होगा। प्राथमिक टीकाकरण वाले 30 करोड़ जनता का समूहों में सूचीकरण:
  • 1 करोड़-सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों के स्वास्थ्य कर्मचारी,
  • 2 करोड़ के लगभग अगली पंक्ति के कर्मचारी जैसे सुरक्षाकर्मी और आवश्यक सेवाओं में शामिल लोग,
  • 27 करोड़ के लगभग प्राथमिकता वाले आयु समूह के लोग 50 साल से ऊपर के लोग और जो सह-अस्वस्थ हैं।
इस एप के 5 मापांक हैं और इन्ही के माध्यम से निम्न तरीके से टीकाकरण किया जायेगा :
  • नागरिक ‘पंजीकरण मापांक’ के माध्यम से कोविड-19 वैक्सीन के लिए पंजीकरण करता हैं।
  • पंजीकरण मापांक उस पंजीकरण डेटा को ‘लाभार्थी अभिस्वीकृत मापांक’ को और वह ‘प्रशासक मापांक’ को भेजता है।
  • 'प्रशासक मापांक' डेटा को संग्रहीत कर के ‘टीकाकरण मापांक ‘को डेटा भेजता है।
  • 'टीकाकरण मापांक' टीका देने की जगह और तारीख की उपलब्धता निर्धारित कर के, 'प्रशासक मापांक' को भेजता हैं।
  • अब 'प्रशासक मापांक', 'लाभार्थी अभिस्वीकृत मापांक' को इन सब विवरण को भेजता हैं और 'लाभार्थी अभिस्वीकृत मापांक' पंजीकृत मोबाइल पर एस.एम.एस से सारी जानकारी भेजते हैं।
  • सफल टीकाकरण पर, 'वैक्सीनेशन मापांक' ‘काम हो गया’ यह संदेश 'लाभार्थी अभिस्वीकृत मापांक' को भेजता है।
  • यह संदेश मिलने के बाद 'लाभार्थी अभिस्वीकृत मापांक' पंजीकृत मोबाइल पर टीकाकरण का क्यूआर-आधारित प्रमाण पत्र जारी करता है।
  • 'प्रशासक मापांक' व्यक्ति और क्षेत्र के अपने डेटा को अपडेट कर के 'रिपोर्ट मापांक' को भेजता हैं।
  • 'रिपोर्ट मापांक' क्षेत्र, प्रांत और राष्ट्रीय स्तर पर रिपोर्ट तैयार करते हैं और उपयुक्त प्राधिकारीयों को भेजते हैं।
  • प्रत्येक क्षेत्र के प्रशासकों द्वारा टीकाकरण सत्र आयोजित किया जायेगा। प्राथमिकता वाले नागरिको का पता लगाने में आसानी होने के लिये, लाभार्थियों के स्वास्थ्य और सह-रुग्णता की स्थिति का सर्वेक्षण किया जायेगा।

यह एप कोल्ड-स्टोरेज सुविधाओं से वास्तविक समय का डेटा भी कंपनियों भेजेगा। कोल्ड-स्टोरेज सुविधायें यह एक इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (eVIN) प्रणाली का विस्तार हैं, जो कोविड-19 की वैक्सीन को संग्रहित करता हैं। यह कंपनियों को मांग के अनुसार वैक्सीन के अपने उत्पादन और टीकाकरण मापांक को कम ज्यादा करने की स्वतंत्रता देता है। जिस से टीकाकरण कार्यक्रम सुचारू रूप से चल सकेगा।

भारत के सीरम इं स्टीट्यूट (SII) के माध्यम से फाइजर-बायोएनटेक, ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका जैसी फार्मा कंपनियों और स्वदेशी भारत बायोटेक ने कोविड-19 की वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन किया है।

इस ऐप के जल्द ही इसके लॉन्च होने की प्रतीक्षा है इस से डिजिटल रूप से संपूर्ण टीकाकरण प्रक्रिया की सुचारू ढ़ंग से लागू हो पायेगी।

संदर्भ:
  1. CoWin: A mobile app for Indians to get Covid-19 vaccine | Explained - (https://www.indiatoday.in/coronavirus-outbreak/story/cowin-mobile-app-indians-covid-19-vaccine-explained-1748285-2020-12-10)
  2. Centre Develops App To Help People Register For Covid Vaccine - (https://www.ndtv.com/india-news/centre-develops-app-cowin-to-help-people-register-for-covid-vaccine-2335966)
  3. COVID-19: Govt plans to launch CoWin-20 app to curb community transmission - (https://government.economictimes.indiatimes.com/news/digital-india/covid-19-govt-plans-to-launch-cowin-20-app-to-curb-community-transmission/74827737)
स्रोत-मेड़ इंड़िया
Post a Comment

Comments should be on the topic and should not be abusive. The editorial team reserves the right to review and moderate the comments posted on the site.



Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.

Advertisement