अनिंद्रा (इन्सोमिया) के घरेलू उपचार

अनिंद्रा के कारण ?

अनिंद्रा में व्यक्ति को रात में अच्छी नींद नहीं आती हैं और अच्छी नींद नहीं आने से पूरे दिन बेचैनी सी महसूस होती हैं। अनिंद्रा क्षणिक और अस्थायी भी हो सकती हैं। ऐसा होने पर यह परेशानी कुछ दिनों के लिए, दो से तीन सप्ताह के लिए, या महीनों तक भी रह सकती हैं। अनिंद्रा से पीड़ित व्यक्ति निम्नलिखित अनुभव करते हैं:

क्‍या आप अपने स्वास्थ को ले कर चिंतित हैं और इस विषय में डॉक्टर से परामर्श करना चाहते हैं ?

  • स्वस्थ होने के बावजूद भी नींद न आना,
  • रात को नींद में चलने की बिमारी,
  • नींद पूरी न होना,
  • समय से पहले नींद खुल जाना,
  • नींद पूरी होने के बावजूद भी तरोताज़ा महसूस ना करना ।

अनिंद्रा के कुछ आम कारण :

भौतिक - दर्द, गठिया, सरदर्द, खुजली, बेचैनी, अधीर पैर के लक्षण ।

शारीरिक - नींद में खलल आना, आँखों पर रौशनी पड़ने से नींद न आना, शोर, यात्रा के दौरान हुई थकान की वजह से, किताबें पढ़ने से।

मनोवैज्ञानिक - चिंता, अवसाद, पागलपन, काम से संबंधित चिंता, रिश्ते में तनाव या करीबी लोगों की मौत की वजह।

अनिंद्रा के कुछ घरेलू उपचार :

टिप 1: तीन कप दही में सुबह, दोपहर और शाम सेवन करने से लाभ मिलता हैं।

टिप 2: एक ग्लास गर्म पानी में दो चमच्च शहद मिलाए, सोने से पहले इस मिश्रण को सेवन करे। इस मिश्रण की आधी ख़ुराक बच्चे को देने से अच्छी नींद आती हैं ।

टिप 3 : एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से लाभ होता हैं ।

टिप 4: एक चम्मच सेलेरी के रस में एक चम्मच शहद मिला कर सेवन करने से लाभ मिलता हैं ।

टिप 5: कच्चा प्याज का सेवन करने से लाभ मिलता हैं ।

टिप 6 : दो चम्मच मेथी के पत्तो के रस में एक चम्मच शहद मिला कर सोते समय सेवन करने से लाभ मिलता हैं।