शब्दावली

मधुमेह: एक ऐसी स्थिति हैं जिसमें शरीर ग्लूकोज (चीनी) को ठीक से संग्रहीत या उपयोग नहीं कर सकता है, जो शरीर की ऊर्जा का मुख्य स्रोत है।

मधुमेह मेलिटस: मधुमेह मेलिटस, जिसे मधुमेह भी कहा जाता है, यह कई स्थितियों का एक समूह हैं। जब हम कार्बोहाइड्रेट खाते हैं, तो हमारा शरीर इसे ग्लूकोज या चीनी में बदल देता है और हमारे रक्तप्रवाह में भेजता है, जिस से कोशिकाओं को ऊर्जा मिलती हैं। जब इंसुलिन की कमी से रक्त प्रवाह से कोशिकाओं में ग्लूकोज (शर्करा) के स्थानांतरण में दोष होता है, जिससे रक्त शर्करा का असामान्य रूप से उच्च स्तर (हाइपरग्लेसेमिया) हो जाता है। तब इसे मधुमेह मेलिटस कहा जाता हैं।

उच्च रक्तचाप: रक्तचाप में वृद्धि।

हृदय रोग: हृदय या रक्त वाहिकाओं के रोग।

रक्तचाप: रक्तचाप, रक्त का वह दबाव है, जो धमनियां की दीवारों पर डालता है। धमनियां हृदय से रक्त को शरीर के अन्य भागों में ले जाती हैं। हृदय कितना रक्त पंप करता हैं और धमनियों में रक्त के प्रवाह के प्रतिरोध की कितनी मात्रा हैं, इस पर रक्तचाप की मात्रा निर्धारित होती है। ।

आघात: आघात या स्ट्रोक तब होता है जब हमारे मस्तिष्क के हिस्से में रक्त की आपूर्ति बाधित या कम हो जाती है, जिस से मस्तिष्क के ऊतकों को ऑक्सीजन और पोषक तत्व प्राप्त नहीं हो पाते हैं। जिस से मस्तिष्क कोशिकायें तुरंत मरने लगती हैं। स्ट्रोक एक चिकित्सा आपातकालीन स्थिति है और इसका शीघ्र उपचार आवश्यक है।

गुर्दे की विफलता: ऐसी कोई भी पुरानी बिमारी जिससे कारण गुर्दो की कोशिकाओं को नुकसान होता हो। इनमें से एक हैं, लंबे समय से डायबिटीज का होना, जिस से किडनी खराब हो सकती है, जिसे नेफ्रोपैथी भी कहा जाता है।

थायरॉइड: श्वासनली (विंडपाइप) के पास स्थित एक ग्रंथि जो थायराइड हार्मोन का उत्पादन करती है, यह हार्मोन विकास और चयापचय को नियंत्रित करने में मदद करते है।

मोटापा: अधिक वजन।

थकान: कमजोर महसूस करना।

जननांग संक्रमण: शरीर के वे अंग जो प्रजनन में भूमिका निभाते हैं, मूत्र के रूप में अपशिष्ट उत्पादों से छुटकारा, या दोनों।

सिरदर्द: सिर, कनपटी, ललाट, खोपड़ी, या गर्दन के क्षेत्र में दर्द या बेचैनी।

चिंता: आशंका और भय की भावना से होने वाले शारीरिक लक्षण जैसे कि घबराहट, पसीना और तनाव की भावनायें।

सीटी: सीटी या कैट स्कैन (कंप्यूटेड टोमोग्राफी स्कैन) हमारे शरीर की फोटो ले कर, डॉक्टरों को हमारे शरीर के अंदर देखने की अनुमति देता है। यह हमारे अंगों, हड्डियों और अन्य ऊतकों की तस्वीरें बनाने के लिए एक्स-रे और कंप्यूटर के संयोजन का उपयोग करता है। यह नियमित एक्स-रे की तुलना में अधिक विवरण दिखाता है।

एमआरआई: आंतरिक अंगों की तस्वीरें लेने के लिए चुंबकीय क्षेत्र का उपयोग करने वाली एक दर्द रहित विधि।

हृदय (कोरोनरी)धमनी रोग: एक या अधिक कोरोनरी धमनियों के संकुचित या अवरोध होने के परिणामस्वरूप हृदय मे रक्त की आपूर्ति में कमी होने को ‘इस्किमिया’ कहा जाता हैं। इससे होने वाला रोग को ‘इस्केमिक’ हृदय रोग भी कहा जाता है।
Post a Comment

Comments should be on the topic and should not be abusive. The editorial team reserves the right to review and moderate the comments posted on the site.



Medindia Newsletters

Subscribe to our Free Newsletters!

Terms & Conditions and Privacy Policy.

Advertisement